Breaking News भारत

नहीं रहे मशहूर अभिनेता ऋषि कपूर ।

वीरेन्द्र धीमान ।

साल 2020 ने बार बार कोई न कोई परेशान कर देने वाली खबर ही दी है । इस साल सबसे पहले पूरा देश जगह जगह हो रहे दंगो से परेशान हुआ उसके बाद बे मौसम बरसात फिर कोरोना वायरस जिसने पुरे विश्व की समझो रोक सा दिया है । इसी बीच इंडियन सिनेमा और उसको चाहने वालों के लिए लगतार दूसरी दुख भरी खबर आयी है । अभी हम अभिनेता इरफ़ान खान के जाने का गम भुला नहीं पाए थे की एक और मशहूर अभिनेता श्री ऋषि कपूर जी आज 30 अप्रैल 2020, लगभग 67 साल की उम्र मैं हम सब को अलविदा कह गए । वो लम्बे समय से कैंसर की बिमारी से परेशान थे जिसके चलते उन्होंने आज मुंबई के एक अस्पताल मै इलाज के दौरान आखरी सांस ली आज पूरा फिल्म जगत गम मैं डूबा हुआ है और उनके चाहने वाले उन्हें याद कर रहे हैं । वो सिर्फ एक अभिनेता ही नहीं एक जिम्मेदार नागरिक और एक अच्छे पिता होने के साथ-साथ अच्छे पति भी थे । हाल ही मैं उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट द्वारा देश वासियों से आपस मैं मिल कर प्रेम से रहने की और देश सेवा मैं लगे डॉक्टर, नर्स, पुलिस और सभी सहयोगियों का साथ देने की अपील की थी ।

उन्होंने अपने जीवन मैं कई ऐसी फिल्मो मैं काम किया जिन्हे आप और हम हमेशा याद रखेंगे । बॉबी, चांदनी, बोल राधा बोल, दीवाना और 2018 मैं मुल्क ऐसी फ़िल्में थी जो भारतीय फिल्म जगत के इतिहास मैं अपनी अलग छाप छोड़कर गयी और वो लगतार कामयाबी की सीढियाँ चड़ते चले गए । उन्होंने अपने जमाने मैं लगभग सभी मशहूर कलाकारों के साथ काम किया । बॉबी फ़िल्म के लिए 1974 में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार दिया गया । जिसके बाद वो कई बार सम्मानित किये गए ।

ऋषि कपूर एक मशहूर अभिनेता स्‍वर्गीय राज कपूर के बेटे और पृथ्‍वीराज कपूर के पोते थे । मुख्य अभिनेता के रूप में उनकी पहली फ़िल्म बॉबी थी , जो एक जबरदस्त हिट फिल्म साबित हुई । उनकी शादी नीतू सिंह के साथ 22 जनवरी 1980 में हुई थी। जो एक सफल जोड़ी साबित हुई। इनके दो बच्चे हुए रणबीर कपूर जो की एक अभिनेता है और रिदीमा कपूर जो एक ड्रैस डिजाइन है।

ऋषि कपूर जी आप हमारे दिलों मैं हमेशा रहोगे ।

Related posts

कहर कोरोना का या इसे फैलाने वालों का

NCR Bureau

स्वच्छ भारत अभियान या कूड़े की राजनीति

TAC Hindi

नशे पर वार; नशे सामाग्री की तस्करी को हरियाणा पुलिस ने किया नाकाम

TAC Hindi

जेएनयू हिंसा घटनाक्रम और नफरत की लहर

TAC Hindi

कन्या: पूजा से भोग की वस्तु तक

TAC Hindi

टकराव की ओर बढ़ रही दो महाशक्तियां

Leave a Comment