Breaking News ख़बरें

जानिए, कैसे करें वोट?

भारत में इस वक्त आम चुनाव का माहौल है। 7 फ़ेज़ में से दो फेंज़ के चुनाव बाकी रह गए है। देश की राजधानी मे भी इस रविवार चुनाव होंगे। इस चुनावी माहोल में ‘वोट कैसे करें?’ इस सवाल पर बात तो होनी ही चाहिए। कई बार आप मीडिया की बनी हवा के आधार पर वोट करते है, कई बार आप अपने घर वालो के कहने पर वोट कर आते है और इससे बड़ी समस्या यह है की कई बार तो आप वोट तक नहीं करने जाते।

TAC Hindi News: देखिए आपका वर्तमान और भविष्यकाल इसी देश में है वही आप इस देश की उन्नती के लिए अनिवार्य कर(टेक्स) भी दे रहे है और जिसके लिए आपको एक ज़िम्मेवार सरकार चुननी ही चाहिए। इसके अलावा आपको किसी के दबाव या मीडिया द्वारा चलाई जा रही हवा के आधार पर वोट नहीं करना चाहिए आपका अपना एक मत, एक सोच होनी चाहिए जो इस लेख को पूरा पढ़ने पर बन जाएगी।

वोटर आईडी की जांच कर लें

सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके पास वोटर आईडी होने के बावजूद भी क्या आपका नाम वोटिंग लिस्ट में है? क्योंकि इस बार ऐसे कई सारे केसेस मिले है जिनके पास वोटर आईडी कार्ड तो था लेकिन मतदान केंद्र पर उनका नाम नहीं था। सरकार की वेबसाइट www.nvsp.in पर आप जा कर ऑनलाइन इसकी जांच कर सकते है।

PM को नहीं MP को वोट करें

भारत में जो लोकतंत्र व्यवस्था है वह सांसदों के द्वारा प्रधानमंत्री को चुनती है। इसलिए हमें एक अच्छे सांसद को चुनना चाहिए। राजनीतिक पार्टियां अपना कर्तव्य समझ कर प्रधानमंत्री के लिए उम्मीदवार की घोषणा ज़रूर करता है लेकिन जनता को उस उम्मीदवार के चहरे पर वोट नहीं करना चाहिए क्योंकि आपके संसदीय क्षेत्र की समस्या हल करने वो खुद तो नहीं आएगा लेकिन आपका सांसद ही आपकी समस्या को संसद तक पहुंचाएगा।

अच्छे सांसद की पहचान कैसे करें

अगर उम्मीदवार पहले भी चुनाव में खड़ा हो चुका है तो आपको ख़बरों के ज़रिए यह परखना चाहिए की अगर वो सत्ता में था तो उसने क्या किया है और अगर विपक्ष में था तब उसने आपके लिए कैसे आवाज़ उठाई थी। इसके अलावा आप mp track और ADR की वेबसाइट पर जा कर इनका कच्छा-चिठ्ठा पढ़ सकते है। इन वेबसाइट पर इनके बारे में इनकी सालाना आय और संपत्ती की पूरी जानकारी होती है, इसके आलावा इनकी पढ़ाई-लिखाई कितनी है इसकी भी जानकारी होती है और सबसे महत्वपूर्ण इनके आपराधिक मामलों की जानकारी भी होती है।

जल्द NOTA भी हो सकता है विकल्प

कई बार यह समस्या आती है की हमें कोई भी उम्मीदवार पसंद नहीं आता और ‘नोटा’ पर बटन दबा कर भी हमें अपना वोट ज़ाया करने की इच्छा भी नहीं होती। दरअसल महाराष्ट्र और हरियाणा सरकार ‘नोटा’ को लेकर जल्द फैसला लेने वाली है जिस फैसले के बाद ‘नोटा’ को भी किसी तरह की तवज्जो दी जाएगी, अब अगर आप यह सोच रहे कि हम तो न महाराष्ट्र से है और न ही हरियाणा से, लेकिन आपके ‘नोटा’ पर बटन दबाने से दो फ़ायदे होंगे एक तो ‘नोटा’ से राजनेताओं को मालूम पड़ेगा की जनता उन्हें कितना नापसंद करती है जिससे की अगले चुनाव में वो इस चीज़ को सुधारने के लिए कोई बेहतर कदम उठाए,

दूसरा यह की जितना ज़्यादा ‘नोटा’ पर वोट पड़ेगा उतने ही जल्दी हमारी सरकार भी ‘नोटा’ को लेकर फैसला देगी।

 लोकतंत्र पर आपकी पूर्ण आस्था और विश्वास होना चाहिए, कई बार एक अच्छा नेता राजनीतिक पार्टियों के प्रचार में नहीं रहता, और कई बार हमें विकल्प भी नहीं दिखता लेकिन लोकतंत्र पर भरोसा रखिए और ईमानदारी से सही व्यक्ति को चुनिए लोकतंत्र आपको एक अच्छा प्रधानमंत्री दे देगा।

Related posts

अपनों के बीच पराये से हम…

TAC Hindi

‘कबीर सिंह’ हमारे समाज का नायक कैसे हो सकता है ?

TAC Hindi

धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र और मानवता

TAC Hindi

लवकुश रामलीला : अरविंद केजरीवाल एवं भूमि पेंडारकर ने किया रावण दहन

TAC Hindi

साहेब का मेरठ…2014 में 1857 का गदर और 2019 में गालिब की ‘सराब’

TAC Hindi

धारा 35ए का हटना और नया कश्मीर

TAC Hindi

Leave a Comment