ख़बरें

श्रमिकों को गृह प्रदेश के जाने के लिए निशुल्क व्यवस्था: मुख्यमंत्री

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते राज्य सरकार द्वारा प्रदेश से इच्छुक श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए रोजाना विशेष श्रमिक रेलगाडिय़ों को प्रदेश के विभिन्न रेलवे स्टेशनों से चलाया जा रहा है और इसी श्रृंखला में आज हरियाणा से एक विशेष श्रमिक रेलगाड़ी को भेजा गया है। इसी तरह, हरियाणा के पड़ौसी राज्यों के रहने वाले श्रमिकों को भी बसों के माध्यम से उनके गृह राज्यों में भिजवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हरियाणा राज्य की उन्नति व विकास में श्रमिकों का उल्लेखनीय योगदान है।

उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार ने इन श्रमिकों की परेशानियों को समझते हुए उन्हें नि:शुल्क उनके गृह राज्य पहुंचाने की व्यवस्था की है। अपने गृह राज्यों में जाने के इच्छुक श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की श्रृंखला के तहत आज गुरूग्राम से एक विशेष श्रमिक रेलगाड़ी के माध्यम से 1600 से अधिक श्रमिकों को उनके गृह राज्य पश्चिम बंगाल के लिए रवाना किया गया है।

गुरूग्राम से वर्धमान (पश्चिम बंगाल) के लिए रेलगाड़ी

शनिवार गुरूग्राम से पश्चिम बंगाल के वर्धमान के लिए लगभग 1600 लोगों व 152 बच्चों को नि:शुल्क उनके घरों हेतु रवाना किया गया। गुरूग्राम रेलवे स्टेशन से यह श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ी सांय 6.00 बजे रवाना की गई।

रेलगाड़ी में बिठाने से पहले उन सभी श्रमिकों तथा उनके परिजनों की थर्मल स्कैनिंग की गई। पश्चिम बंगाल जाने वाले श्रमिकों को हरियाणा राज्य परिवहन की बसों में बैठाकर गुरूग्राम रेलवे स्टेशन तक पहुंचाया गया। जिन श्रमिकों ने अपना पंजीकरण करवाया था उन सभी की थर्मल स्कैनिंग की गई। केवल उन्हीं श्रमिकों को इस रेलगाड़ी में भेजा गया है जिनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं दिए हैं।

रेलगाड़ी में श्रमिकों व उनके परिजनों को विदा करते समय हरियाणा सरकार की ओर से प्रत्येक व्यक्ति को पैक्ड भोजन के साथ पानी की बोतल तथा नि:शुल्क टिकट दी गई। यही नहीं, उनके साथ उनके बच्चों की जरूरतों का भी ध्यान रखते हुए राज्य सरकार द्वारा बिस्किट तथा नमकीन के विशेष रूप से तैयार करवाए गए पैकेट बच्चों और उनके अभिभावकों को दिए। इतना ही नहीं, बच्चों और बड़ों में चॉकलेट भी वितरित कर उन्हें दोबारा हरियाणा तथा गुरूग्राम आने का न्यौता भी दिया गया।

रेलगाड़ी जब अपने गंतव्य के लिए रवाना हुई तो अंदर बैठे श्रमिकों व उनके परिजनों ने तालियां बजाकर तथा हाथ हिलाकर उन्हें सकुशल घर पहुंचाने के लिए हरियाणा सरकार का आभार जताया।

प्रवासी नागरिकों ने अपने घर जाने की ललक के साथ पुन: लौटने का दिया भरोसा।

नि:शुल्क यात्रा तथा भोजन की सुविधा के लिए हरियाणा सरकार का जताया आभार

श्रमिकों का कहना था कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद वे वापिस यहीं पर आएंगें। उनका कहना था कि हरियाणा सरकार द्वारा उन सबको नि:शुल्क यात्रा का जो तोहफा दिया गया है, उसके लिए वे राज्य सरकार के धन्यवादी हैं जिसने इस संकट की घड़ी में उनका साथ दिया।

Related posts

गौतमबुद्ध नगर में 2 महिलाओं समेत 9 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि, 414 पॉज़िटिव घोषित, 294 डिस्चार्ज, 07 की मौत,113 का इलाज जारी

TAC Hindi

लैंड जिहाद: क्या सचमुच हिन्द देश के निवासी सभी जन एक है?

TAC Hindi

आज की जरूरत पर फिट बैठती नई नई पार्टियाँ

TAC Hindi

मौत का साया चारों ओर छाया… कोरोना

TAC Hindi

अपनों के बीच पराये से हम…

TAC Hindi

कोरोना को हराना: राज्यपाल ने दिया जला कर दिया प्रदेश वासियो को एकता का संदेश

TAC Hindi

Leave a Comment