ख़बरें भारत

जीएसटी संग्रह के मामले में हरियाणा देश के शीर्ष 5 राज्यों में शामिल

जीएसटी संग्रह के मामले में हरियाणा देश के शीर्ष 5 राज्यों में शामिल हो गया है। इस वित्तीय वर्ष के पहले 6 महीनों (अप्रैल-सितंबर 2023) में, राज्य का कुल कर संग्रह पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 27,155 करोड़ रुपये की तुलना में 32,076 करोड़ रुपये हो गया है, जो 18.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

इस अवधि के दौरान, वैट का संग्रह 5,568 करोड़ रुपये था, आईजीएसटी निपटान और एसजीएसटी मुआवजे सहित एसजीएसटी संग्रह 20,670 करोड़ रुपये था, जो 27 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है और उत्पाद शुल्क संग्रह 5,757 करोड़ रुपये था, जो 16.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

जीएसटी कलेक्शन में हुई ये वृद्धि प्रदेश की आर्थिक प्रगति को तो दर्शाती ही है, साथ ही यह राज्य के विकास के लिए एक सकारात्मक संकेत भी है। वहीं इससे यह भी साबित होता है कि देश में एक देश-एक कर की अवधारणा पर लागू जीएसटी प्रणाली बेहद कारगर है। जीएसटी की प्रक्रिया सरल होने से न केवल उद्यमियों को फायदा पहुंचा है, बल्कि सरकार के राजस्व में भी बढ़ोतरी हो रही है।

प्रदेश सरकार द्वारा आबकारी एवं कराधान विभाग के आधारभूत ढांचे को मजबूत एवं आधुनिक किया जा रहा है। विभाग में कर संग्रह के कार्यों में डिजिटलाइजेशन को अपनाया जा रहा है। विभाग का प्रयास है कि राजस्व को अधिकतम करने के साथ ही लीकेज को कम किया जाए। साथ ही, राज्य बजट में विभाग के लिए निर्धारित 57,931 करोड़ रुपये के राजस्व एकत्रित करने के लक्ष्य को पूरा किया जाए।

Related posts

शोभा की सुपारी बनी पॉलीथिन एवं प्लास्टिक की रिसाइक्लिंग मशीन

TAC Hindi

“समाज सेवक”- एक शब्द, जो नतीजा है सरकार की विफलता का- अनूप खन्ना

TAC Hindi

अत्यावश्यक सेवा में लगे लोगों का करें सम्मान

TAC Hindi

प्रधानमंत्री ने ‘घर-घर तिरंगा अभियान’ के माध्यम से लोगों में राष्ट्रवाद की भावना को जागृत किया: मनोज जैन

TAC Hindi

ज्यादा रेट चार्ज करने पर 5 ग्रोसरी स्टोर का काटा चालान

TAC Hindi

असल में ये हमारी मौत का फरमान है…

TAC Hindi

Leave a Comment